ट्रकpic credit : wallpaper fire
80 / 100

कुरुम: राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 53 पर अकोला-अमरावती मार्ग पर एक दुखद हादसा हो गया है, जिसमें शुक्रवार, 2 फरवरी की रात को मलकापुर जंक्शन के पास एक कार ट्रक से टकरा गई। इस हादसे में एक व्यक्ति की मौत हो गई, जबकि तीन अन्य लोग घायल हो गए।

ट्रक नंबर और ट्रक नंबर

पुलिस स्टेशन माना सीमा के अंतर्गत राष्ट्रीय राजमार्ग क्रमांक 53 पर मलकापुर फाटा के पास हुआ यह हादसा। ट्रक नंबर एम। एच। 18 बीजी 6782 के ड्राइवर एकनाथ वामन महाजन (उम्र 45, निवासी रत्नाने, जिला धुले) ने अपने कब्जे में लिए हुए ट्रक पर अचानक ब्रेक लगा दी, जिसके परिणामस्वरूप कार नंबर एम। एच। 18 बीआर 8601 ने पीछे से ट्रक को मारा। इस दुर्घटना में कार में सवार धीरज वनहाडे (नि. मलकापुर, जिला बुलढाणा) की मौके पर ही मौत हो गई।

Also Read : नागभीड की सड़कों पर हुई अफसोसनाक घटना: श्री ज्ञानेश दुर्वादास मुले की दुर्भाग्यपूर्ण मौत..

यह दुखद घटना राष्ट्रीय राजमार्ग पर सुरक्षा की महत्वपूर्णता को बढ़ाती है और साथ ही ड्राइवरों को सतर्क रहने की आवश्यकता को भी दिखाती है। हाईवे पर यातायात नियमों का पालन करना और सुरक्षा के उपायों का पालन करना जीवन की रक्षा के लिए महत्वपूर्ण है।

स्थानीय प्राधिकृतियाँ, जैसे कि माना सीमा पुलिस स्टेशन, ने घटना के ठीक बाद त्वरित प्रतिक्रिया दी, जांच-जारी की, और हादसे के परिणामस्वरूप यातायात को स्मूद बनाए रखने के लिए नेतृत्व किया। इस घटना से पैदा हुई समस्याएं रोकने के लिए सुरक्षा मानकों को बनाए रखने और सभी यात्रीगण की जिम्मेदारी लेने की जरूरत है।

जीवन की एक रूपरेखा की हानि और इस दुर्घटना में प्राप्त चोटों के साथ सामुदायिक रूप से सामना करते समय, यह अधिकतम महत्वपूर्ण है कि प्राधिकृतियाँ सीधी तौर पर सुरक्षा जागरूकता बढ़ाएं और आने वाले में ऐसी घटनाओं को रोकने के लिए उपायों को लागू करें।

READ TO ENGLISH:

A car collides with a truck: one dead, three injured

Kurum: A tragic accident took place on Akola-Amravati road on National Highway No. 53, in which a car collided with a truck near Malkapur Junction on the night of Friday, February 2. One person died in this accident, while three other people were injured.

This accident happened near Malkapur Phata on National Highway No. 53 under Police Station Mana limits. Truck number M. H. 18 Eknath Vaman Mahajan (age 45, resident of Ratnane, District Dhule), driver of BG 6782, suddenly applied brakes on the truck he was in possession of, resulting in car number M. H. 18 BR 8601 hit the truck from behind. In this accident, Dheeraj Vanhade (R. Malkapur, District Buldhana), who was traveling in the car, died on the spot.

This tragic incident increases the importance of safety on the National Highway and also shows the need for drivers to remain alert. Following traffic rules and following safety measures on the highway is important to save life.

Local authorities, such as the Mana Border Police Station, responded quickly after the incident, launched an investigation, and took the lead in keeping traffic flowing as a result of the accident. To prevent problems arising from this incident, there is a need to maintain safety standards and take responsibility for all passengers.

When the community is faced with the loss of life and the injuries received in this accident, it is of utmost importance that the authorities directly raise safety awareness and implement measures to prevent such incidents in the future.

मराठी में पढे :

कारची ट्रकला धडक : एक ठार, तीन जखमी

कुरुम: अकोला-अमरावती मार्गावर राष्ट्रीय महामार्ग क्रमांक 53 वर शुक्रवारी, 2 फेब्रुवारीच्या रात्री मलकापूर जंक्शनजवळ ट्रकला कार धडकून भीषण अपघात झाला. या अपघातात एकाचा मृत्यू झाला, तर अन्य तीन जण जखमी झाले.

हा अपघात माना पोलीस स्टेशन हद्दीतील राष्ट्रीय महामार्ग क्रमांक 53 वर मलकापूर फाट्याजवळ घडला. ट्रक क्रमांक एम. एच. 18 बीजी 6782 चा चालक एकनाथ वामन महाजन (वय 45, रा. रत्नाणे, जिल्हा धुळे) याने त्याच्या ताब्यात असलेल्या ट्रकला अचानक ब्रेक लावला, परिणामी कार क्रमांक एम. एच. 18 बीआर 8601 ने ट्रकला मागून धडक दिली. या अपघातात कारमधील धीरज वऱ्हाडे (रा. मलकापूर, जि. बुलढाणा) यांचा जागीच मृत्यू झाला.

या दु:खद घटनेमुळे राष्ट्रीय महामार्गावरील सुरक्षिततेचे महत्त्व वाढते आणि वाहनचालकांनी सतर्क राहण्याची गरजही दिसून येते. वाहतूक नियमांचे पालन करणे आणि महामार्गावरील सुरक्षा उपायांचे पालन करणे जीव वाचवण्यासाठी महत्त्वाचे आहे.

माना बॉर्डर पोलिस स्टेशन सारख्या स्थानिक अधिकाऱ्यांनी या घटनेनंतर त्वरित प्रतिसाद दिला, तपास सुरू केला आणि अपघाताचा परिणाम म्हणून वाहतूक सुरळीत ठेवण्यात पुढाकार घेतला. या घटनेमुळे उद्भवणाऱ्या समस्या टाळण्यासाठी, सुरक्षिततेचे मानके राखण्याची आणि सर्व प्रवाशांची जबाबदारी घेण्याची गरज आहे.

जेव्हा समाजाला या अपघातात जीवितहानी आणि जखमींना सामोरे जावे लागत आहे, तेव्हा अधिकाऱ्यांनी थेट सुरक्षिततेबद्दल जागरुकता वाढवणे आणि भविष्यात अशा घटना टाळण्यासाठी उपाययोजना राबवणे अत्यंत महत्त्वाचे आहे.