गडचिरोली
69 / 100

गडचिरोली: एक सामान्य दिन जिंदगी की शुरुआत थी, लेकिन यहाँ हुई एक दुखद घटना ने सब कुछ बदल दिया। रोहित्रा शहर के चामोर्शी रोड पर स्थित जिला हाई स्कूल के पास, जहाँ बिजली मरम्मत का काम था, वहाँ एक लाइनमैन की जान चली गई।

इस दुखद घटना का संघर्षपूर्ण संवर्णन है। सुबह के 11 बजे जब विद्युत रोहित्रा में बिजली मरम्मत का काम चल रहा था, तभी एक लाइनमैन जीतेंद्र वसंतराव गज्जलवार को अचानक करंट लग गया। मृतक कर्मचारी की उम्र 35 वर्ष थीं और उनकी मौत ने नगर को गहरे शोक में डाल दिया।

Also read=ब्रह्मपुरी-खरबी रोड पर हुआ दुर्घटना: साइकिल सवार की मौके पर ही मौत

जीतेंद्र गज्जलवार महावितरण कंपनी के कर्मचारी थे और वे जिला परिषद हाई स्कूल के पास बिजली मरम्मत के लिए आए थे। काम के दौरान, जितेंद्र रोहित्रा के साथ पोल पर चढ़कर मरम्मत कर रहे थे जब एक अचानकी बिजली आई और उन्हें करंट लग गया। इससे होने वाली घटना ने सभी को हैरान कर दिया।

gray electric post with light
Photo by Miguel Á. Padriñán on Pexels.com

घटना के तत्काल बाद, पुलिस को सूचित किया गया और पुलिस ने त्वरितता से मौके पर पहुंचकर पंचनामा किया। शव को पोस्टमार्टम के लिए जिला सामान्य अस्पताल भेज दिया गया। जितेंद्र गज्जलवार का निवास चंद्रपुर जिले के सावली तालुका के अंतर्गत बोदली (हीरापुर) में था।

उनका परिवार इस दुखद समय में बहुत ही असहाय महसूस कर रहा है। जितेंद्र के परिवार में उनकी पत्नी और एक छोटे बच्चे सहित एक बड़ा परिवार है। उनकी मौत ने समुदाय को एक सच्चे योद्धा की तरह स्थिति का सामना करने के लिए मजबूर किया है। इस दुःखद घड़ी में हम जितेंद्र गज्जलवार के परिवार के साथ हैं और उनकी आत्मा को श्रद्धांजलि अर्पित करते हैं।”

English

“Gadchiroli: A Normal Day Shattered by a Tragic Incident

It started as an ordinary day in Gadchiroli, but a sorrowful event near the Chamorshi Road has changed everything. At the district high school, where electrical maintenance work was underway, a lineman tragically lost his life.

The poignant incident unfolds as, around 11 AM, Jitendra Vasantrav Gajjalwar, an employee of the power distribution company, was suddenly hit by an electric shock while working on the electrical repairs in Rohitra. The deceased, aged 35, left the town in profound grief.

Also read=नागभीड की सड़कों पर हुई अफसोसनाक घटना: श्री ज्ञानेश दुर्वादास मुले की दुर्भाग्यपूर्ण मौत..

Jitendra Gajjalwar, employed with the power distribution company, had come to the district high school near Chamorshi Road for electrical maintenance. While working, he climbed a pole with Rohitra, when an unexpected electric surge occurred, leading to the shocking incident that left everyone astounded.

Immediately after the incident, the police were informed, and they swiftly arrived at the scene to conduct the necessary investigations. The body was sent to the district general hospital for post-mortem. Jitendra Gajjalwar, a resident of Bodli (Heerapur) under Savali taluka in Chandrapur district, left behind a helpless family.

During this distressing time, Jitendra’s family, including his wife and a young child, is grappling with a sense of helplessness. His untimely demise has compelled the community to face the situation like true warriors. In this somber moment, we stand with Jitendra Gajjalwar’s family, offering our heartfelt condolences to his departed soul.”