विजय थलापतिimage Posted On X By @actorvijay
68 / 100

चेन्नई: तमिल सिनेमा के सुपरस्टार विजय थलापति ने हाल ही में राजनीतिक पार्टी तमिझा वेत्री कज़गम (टीवीके) की शुरुआत की है, जिसका अनुवाद होता है “तमिलनाडु विजय पार्टी”। इससे पहले ही इस पार्टी के नेताओं ने उन्हें पार्टी प्रमुख नियुक्त किया था। इस घड़ीयाल पल में, राजनीति में अपने कदम से जुड़ने के लिए विजय ने चेन्नई में एक घण्टे की बड़ी रैली निकाली।

विजय थलापति चुनाव की तैयारी:

इस घटना के बाद, तमिलनाडु में 2026 में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले विजय थलापति की राजनीतिक पारीक्षा की संभावना है। उन्होंने टीवीके के समर्थन के बारे में स्पष्ट करते हुए कहा कि उनकी पार्टी लोकसभा चुनाव में नहीं लड़ेगी और उनकी नजरें तमिलनाडु के चुनाव पर हैं।

Also Read : स्कूल के दिनों का आभास: 1969 में गढ़चिरौली के छात्र राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री से मिले…

विजय का दृढ इरादा:

सामान्य परिषद और कार्यकारी परिषद की बैठकों में हुए निर्णय के बाद, विजय ने मीडिया को बताया कि उन्होंने चुनौतीपूर्ण कार्य को पूरा करने का निर्णय लिया है और वह पूरी तरह से सार्वजनिक सेवा की राजनीति में शामिल होंगे। उन्होंने यह भी जताया कि उन्होंने यह कदम तमिलनाडु के लोगों के प्रति अपना आभार दिखाने के लिए उठाया है।

फिल्म से लेकर राजनीति तक:

विजय थलापति, जिनके पिता मशहूर फिल्म निर्देशक चन्द्रशेखर हैं, अब एक नए क्षेत्र में कदम रख रहे हैं। उनकी फिल्में आमतौर पर समाज में उठे रहने वाले विषयों पर आधारित होती हैं, और उन्होंने अपने समर्थनयात्राओं में इसी दिशा में कार्य किया है। विजय ने छात्रवृत्ति से लेकर मुफ्त वितरण, शिक्षा, और कल्याण के कई क्षेत्रों में भी योजनाएं चलाई हैं।

प्रशंसा और विवाद:

उनकी राजनीतिक महत्वाकांक्षाओं के बावजूद, विजय ने हाल ही में सरकारों के खिलाफ बोलने का विवादास्पद रुख भी दिखाया है। लेकिन इसके बावजूद, उनके प्रशंसकों ने इस नए कदम को खूब गर्मी से स्वागत किया है। सिनेमा से राजनीति में आने वाले सितारों की लंबी सूची में, विजय अब एक नये युग की शुरुआत कर रहे हैं।**

मराठी में पढे :

तामिळ सुपरस्टार विजय थलापथी: राजकारणात नवीन पाऊल

चेन्नई: तामिळ चित्रपटसृष्टीतील सुपरस्टार विजय थलापथी यांनी अलीकडेच राजकीय पक्ष तमिझा वेत्री कळघम (TVK) लाँच केला आहे, ज्याचे भाषांतर “तामिळनाडू व्हिक्टरी पार्टी” असे केले जाते. यापूर्वीही या पक्षाच्या नेत्यांनी त्यांची पक्षप्रमुखपदी नियुक्ती केली होती. या नाजूक क्षणी, विजयने चेन्नईत एक तासाची मोठी रॅली काढून राजकारणात पाऊल टाकले.

निवडणुकीची तयारी:

या घटनेनंतर तामिळनाडूमध्ये 2026 च्या विधानसभा निवडणुकीपूर्वी विजय थलापथी यांची राजकीय कसोटी लागण्याची शक्यता आहे. TVK च्या पाठिंब्याबद्दल स्पष्टीकरण देताना ते म्हणाले की त्यांचा पक्ष लोकसभा निवडणूक लढवणार नाही आणि त्यांची नजर तामिळनाडूच्या निवडणुकीवर आहे.

विजयाचा दृढ इरादा :

जनरल कौन्सिल आणि कार्यकारी परिषदेच्या बैठकीत घेतलेल्या निर्णयानंतर विजय यांनी प्रसारमाध्यमांना सांगितले की, त्यांनी आव्हानात्मक कार्य पूर्ण करण्याचा निर्णय घेतला आहे आणि लोकसेवेच्या राजकारणात पूर्णपणे सहभागी होणार आहे. तमिळनाडूच्या लोकांप्रती कृतज्ञता व्यक्त करण्यासाठी आपण हे पाऊल उचलल्याचेही त्यांनी व्यक्त केले.

चित्रपटांपासून राजकारणापर्यंत:

विजय थलपथी, ज्यांचे वडील प्रसिद्ध चित्रपट दिग्दर्शक चंद्रशेखर आहेत, ते आता एका नवीन क्षेत्रात पाऊल टाकत आहेत. त्याचे चित्रपट हे सहसा समाजात उद्भवणाऱ्या समस्यांवर आधारित असतात आणि त्यांनी आपल्या प्रचार दौऱ्यांमध्ये या दिशेने काम केले आहे. विजयने शिष्यवृत्तीपासून मोफत वितरण, शिक्षण आणि कल्याण अशा अनेक क्षेत्रात योजनाही चालवल्या आहेत.

प्रशंसा आणि विवाद:

आपली राजकीय महत्त्वाकांक्षा असूनही, विजय यांनी अलीकडे सरकारच्या विरोधात बोलण्यात वादग्रस्त भूमिका देखील दर्शविली आहे. मात्र असे असतानाही त्याच्या चाहत्यांनी या नव्या पावलाचे जोरदार स्वागत केले आहे. सिनेसृष्टीतून राजकारणाकडे जाणाऱ्या ताऱ्यांच्या लांबलचक यादीत विजय आता एका नव्या युगात प्रवेश करत आहे.**