दिव्यांशु
74 / 100

चाचा के कार्यक्रम में जा रहे बच्चे की दर्दनाक मौत: साढ़े तीन साल का दिव्यांशु

गांव में हड़कंप, बहन की आँखों में आँसू

नरखेड़, महाराष्ट्र: एक साढ़े तीन साल के बच्चे की दर्दनाक मौत ने नरखेड़ जिले के एक गांव में हड़कंप मचा दिया है। दिव्यांशु भिल्लम, जो अपने चाचा के कार्यक्रम में गया था, वहां चला गया और फिर कुएं में उसका शव मिला। इस घटना ने गांव में हड़कंप मचा दिया है और बच्चे के परिजनों को गहरे शोक में डाल दिया है।

कार्यक्रम की तैयारी में:

दिव्यांशु बुधवार शाम 5 बजे से लापता हो गया था। उसके पिता देवेन्द्र भिल्लम और चचेरे भाई कैलास के साथ कार्यक्रम की तैयारी में था। यह कहा जा रहा है कि दिव्यांशु की बहनें उसे मना कर रही थीं कि वह न जाए, लेकिन उसने उनकी सुनी नहीं और रोते हुए अपने चाचा के साथ कार्यक्रम में चला गया।

Also Read : “कोलारी की गर्वगर्ता: इसरो अध्ययन दौरे में चमकती हुई जिला परिषद स्कूल की उत्कृष्ट छात्रा, कृतिका मदन गोपाल का चयन”

दिव्यांशु का कुआं में शव:

जब पिता और चचेरे भाई वापस लौटे, तो दिव्यांशु गायब था। उन्होंने खेत में भी ढूंढ़ा, लेकिन उसका कोई स्पर्श नहीं मिला। रिश्तेदारों की मदद से तलाश जारी रखी गई, और अगले दिन सुबह, दिव्यांशु का शव गांव के पास एक कुएं में मिला।

मौत के पीछे का रहस्य:

मौत की यह अनूठी घटना गांव में हड़कंप मचा देने के साथ-साथ दिव्यांशु के परिवार के लिए भी एक बड़ा आंधान है। दिव्यांशु का बालपन से ही गांव में मशहूर था, जो हमेशा हंसता और खेलता रहता था। परिजनों का कहना है कि यह एक हादसा है और सच्चाई का पता लगाने के लिए पुलिस आंगिक कदम उठा रही है।

आईपीसी धारा 363 के तहत मामला दर्ज:

दिव्यांशु की मौत के बाद, पुलिस ने आईपीसी की धारा 363 के तहत मामला दर्ज किया है और विचारणा जारी है। अनुमंडल पदाधिकारी, पुलिस अधिकारी, और डॉग स्क्वाड ने मौके पर पहुंचकर तलाशी शुरू की है और घटना के पीछे की सच्चाई को सामने लाने के लिए कठिनाईयों का सामना कररहे हैं।

नोट: इस खबर की सटीकता की पुष्टि के लिए स्थानीय प्राधिकृत्य से सहायता लें।

मराठी में पढे :

काकाच्या कार्यक्रमाला गेलेल्या मुलाचा वेदनादायक मृत्यू : साडेतीन वर्षांचा दिव्यांशु

गावात घबराट, बहिणीच्या डोळ्यात पाणी

नरखेड, महाराष्ट्र: नरखेड जिल्ह्यातील एका गावात साडेतीन वर्षाच्या चिमुकलीच्या दुःखद मृत्यूने खळबळ उडाली आहे. मामाच्या कार्यक्रमाला गेलेले दिव्यांशु भिल्लम तेथे गेले असता त्यांचा मृतदेह विहिरीत आढळून आला. या घटनेने गावात खळबळ उडाली असून मुलाच्या कुटुंबावर शोककळा पसरली आहे.

कार्यक्रमाच्या तयारीसाठी:

दिव्यांशु बुधवारी सायंकाळी ५ वाजल्यापासून बेपत्ता झाला होता. वडील देवेंद्र भिल्लम आणि चुलत भाऊ कैलास यांच्यासह कार्यक्रमाची तयारी करत होते. दिव्यांशुच्या बहिणी त्याला न जाण्यासाठी समजावण्याचा प्रयत्न करत होत्या, पण त्याने त्यांचे म्हणणे न ऐकले आणि काकांसोबत रडत कार्यक्रमाला गेल्याचे बोलले जात आहे.

विहिरीत मृतदेह:

वडील आणि चुलत भाऊ परत आले तेव्हा दिव्यांशु बेपत्ता होता. त्यांनी शेतातही शोध घेतला, मात्र त्याचा पत्ता लागला नाही. नातेवाइकांच्या मदतीने शोध सुरू ठेवला असता, दुसऱ्या दिवशी सकाळी गावाजवळील विहिरीत दिव्यांशुचा मृतदेह आढळून आला.

Also Read : “Paytm Payments Bank पर RBI का प्रतिबंध: बैंकिंग में बड़ी बदलाव की आशंका | March 2024 से बैंकिंग सेवाएं बंद”

मृत्यूमागील गूढ:

मृत्यूच्या या अनोख्या घटनेने गावात खळबळ उडाली असून दिव्यांशुच्या कुटुंबीयांसाठीही हा मोठा धक्का आहे. नेहमी हसत-खेळत राहणारा दिव्यांशु लहानपणापासून गावात प्रसिद्ध होता. हा अपघात असल्याचे कुटुंबीयांचे म्हणणे असून पोलीस सत्य शोधण्यासाठी तातडीने पावले उचलत आहेत.

आयपीसी कलम ३६३ अंतर्गत गुन्हा दाखल:

दिव्यांशुच्या मृत्यूनंतर पोलिसांनी भादंवि कलम ३६३ अन्वये गुन्हा दाखल केला असून खटला सुरू आहे. उपविभागीय अधिकारी, पोलीस अधिकारी, श्वान पथक घटनास्थळी पोहोचले असून शोध सुरू केला असून घटनेमागील सत्य बाहेर काढण्यात अडचणी येत आहेत.

या दुःखद घटनेशी संबंधित इतर तपशील जाणून घेण्यासाठी, अधिक माहितीसाठी आमच्याशी संपर्क साधा.

टीप: या बातमीच्या अचूकतेची पुष्टी करण्यासाठी स्थानिक अधिकाऱ्यांची मदत घ्या.