पारडगांव से सोनेगांव
70 / 100

पारडगांव से सोनेगांव रोड पर पैदल चलना मुश्किल है

ब्रह्मपुरी (टी.पी.): पारडगांव से सोनेगांव तक की सड़क बहुत खराब हालत में है और इस सड़क को लेकर ग्रामीण कई बार सरकार से गुहार लगा चुके हैं। लेकिन उक्त मांग अभी भी लंबित है। सड़क को लेकर ग्रामीणों ने कई बार जनप्रतिनिधियों को ज्ञापन दिया है, लेकिन विधायक व सांसद एक-दूसरे की मंशा को नजरअंदाज कर रहे हैं।

यह सड़क सोनेगांव, सावलगांव, चिंचोली, गांव जाने या वडसा बाजार तक सब्जियां पहुंचाने के लिए महत्वपूर्ण सड़क है। फिलहाल सड़क में गड्ढा है।

Also Read : चंद्रपूर: सिंदेवाही वन क्षेत्र में बाघ का हमला, एक व्यक्ति की मौत

पारडगांव से सोनेगांव तक सड़क दस-बीस साल पहले पक्की और डामरीकृत की गई थी। लेकिन तब से यह सड़क बेहद बदहाल हो गई है। सोनेगांव में रेती घाट की नीलामी सरकार द्वारा की जाती है, इसलिए रेत से भरे भारी ट्रक इस सड़क पर चलते हैं, इस प्रकार सड़क की हालत खस्ता है। सड़क पर बड़े-बड़े गड्ढे हैं और गड्ढे में ही सड़क है।

यह हमेशा व्यस्त रहने वाली सड़क है और दोनों गांवों के किसानों की लगभग 70% प्रतिशत खेती इस सड़क पर है। इसलिए नागरिकों को इस सड़क से होकर कृषि कार्य करने के लिए बैलगाड़ी या साइकिल मोटर साइकिल से जाने में अत्यधिक कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है।

यह अप्रभावी है. इसलिए नागरिकों को दूसरी वैकल्पिक सड़क का उपयोग करना होगा। यह सड़क सामने वाले गांव के निवासियों के लिए ब्रह्मपुरी जाने के लिए भी बहुत महत्वपूर्ण है। ग्रामीणों ने इस समस्या को ध्यान में रखते हुए सड़क के संबंध में जल्द ही नई सड़क का प्रस्ताव तैयार करने की मांग जनप्रतिनिधियों से की है।

मराठी में पढे,

वाळू वाहतुकीमुळे पारडगाव ते सोनेगाव रस्त्याची दुरवस्था

पारडगाव ते सोनेगाव रस्त्यावर चालणे अवघड झाले आहे.

ब्रह्मपुरी (ता.प.) : पारडगाव ते सोनेगाव या रस्त्याची अत्यंत दुरवस्था झाली असून या रस्त्याबाबत ग्रामस्थांनी शासनाकडे अनेकवेळा दाद मागितली आहे. मात्र ही मागणी अद्याप प्रलंबित आहे. रस्त्याबाबत ग्रामस्थांनी लोकप्रतिनिधींना अनेकवेळा निवेदने दिली, मात्र आमदार, खासदार एकमेकांच्या हेतूकडे दुर्लक्ष करत आहेत.

सोनेगाव, सावळगाव, चिंचोली या गावांमध्ये जाण्यासाठी किंवा वडसा मार्केटमध्ये भाजीपाला पोहोचवण्यासाठी हा रस्ता महत्त्वाचा रस्ता आहे. सध्या रस्त्यावर खड्डे पडले आहेत.

पारडगाव ते सोनेगाव हा रस्ता दहा-वीस वर्षांपूर्वी पक्का व डांबरीकरण करण्यात आला. मात्र त्यानंतर हा रस्ता अत्यंत खराब झाला आहे. सोनेगाव येथील रेती घाटाचा शासनाकडून लिलाव केला जातो, त्यामुळे या रस्त्यावर वाळूने भरलेले अवजड ट्रक येतात, त्यामुळे रस्त्याची अवस्था दयनीय आहे. रस्त्यावर मोठे खड्डे पडले असून खड्ड्यातच रस्ता आहे.

हा नेहमीच वर्दळीचा रस्ता असून दोन्ही गावातील शेतकऱ्यांची जवळपास ७०% शेती याच रस्त्यावर आहे. त्यामुळे नागरिकांना या रस्त्यावरून बैलगाडी किंवा सायकल, मोटारसायकलने शेतीची कामे करण्यासाठी जाण्यासाठी कमालीचा त्रास सहन करावा लागत आहे.

तो कुचकामी आहे. त्यामुळे नागरिकांना दुसरा पर्यायी रस्ता वापरावा लागणार आहे. समोरच्या गावातील रहिवाशांना ब्रह्मपुरीला जाण्यासाठीही हा रस्ता अत्यंत महत्त्वाचा आहे. ही समस्या लक्षात घेऊन लवकरच नवीन रस्त्याचा प्रस्ताव तयार करण्याची मागणी ग्रामस्थांनी लोकप्रतिनिधींकडे केली आहे.