बड़ी खबर: महाराष्ट्र राज्य बोर्ड ने 12वीं परीक्षाओं के लिए नकल-मुक्त उपाय लागू कियाWikimedia Commons
64 / 100

बड़ी खबर: महाराष्ट्र राज्य बोर्ड ने 12वीं परीक्षाओं के लिए नकल-मुक्त उपाय लागू किया |

शिक्षा समाचार, महाराष्ट्र बोर्ड परीक्षा, एसएससी परीक्षा, एचएससी 2024 परीक्षा समाचार, एचएससी परीक्षा, शिक्षा, एसएससी 2024 परीक्षा समाचार, एसएससी 2024 परीक्षा, एचएससी 2024 परीक्षा

महाराष्ट्र राज्य माध्यमिक और उच्चतर माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (राज्य बोर्ड) 21 फरवरी से 12वीं की परीक्षा शुरू कर रहा है। इस परीक्षा के लिए प्रवेश पत्र राज्य बोर्ड द्वारा 22 जनवरी से ऑनलाइन उपलब्ध करा दिए गए हैं।

अब बोर्ड ने इस परीक्षा को लेकर निर्देश जारी कर दिए हैं। छात्रों को पेपर शुरू होने से आधा घंटा पहले परीक्षा केंद्र पर उपस्थित होना अनिवार्य होगा। सभी केंद्रों को निर्देश दिया गया है कि पेपर शुरू होने के बाद आने वाले छात्रों को परीक्षा में बैठने की अनुमति नहीं दी जाएगी। इसलिए छात्रों को परीक्षा केंद्रों पर निर्धारित समय से आधा घंटा पहले पहुंचना होगा।

नकल मुक्त 12वीं परीक्षा सुनिश्चित करने के लिए बोर्ड ने इस साल सरमिसाल पद्धति का उपयोग करने का निर्णय लिया है। नतीजतन, 12वीं की परीक्षा के दौरान एक ही स्कूल या जूनियर कॉलेज के छात्र एक के बाद एक नहीं बैठेंगे। इसके बजाय, छात्रों को अलग-अलग परीक्षा केंद्रों पर रोल नंबर दिए जाएंगे। पहले, पेपर शुरू होने से दस मिनट पहले छात्रों को प्रश्न पत्र दिया जाता था। हालाँकि, अब यह पद्धति बंद कर दी जाएगी और छात्रों को पेपर के अंत में दस मिनट का अतिरिक्त समय दिया जाएगा।

साथ ही बोर्ड ने स्पष्ट किया है कि नकल मुक्त परीक्षा के लिए कंप्यूटर क्लास के पेपर जारी होने तक परीक्षा केंद्र के 100 मीटर के दायरे के सभी जेरॉक्स सेंटर बंद रहेंगे। भाषा विषयों के अलावा अन्य विषयों के लिए, बोर्ड ने छात्रों को पर्याप्त अध्ययन समय देने के लिए एक समय सारिणी तैयार की है। इसलिए शिक्षा बोर्ड छात्रों से अपील करता है कि वे आत्मविश्वास के साथ और बिना किसी डर के परीक्षा दें।

इसके अलावा जिन परीक्षा केंद्रों पर नकल होगी, वहां के संचालकों पर भी कार्रवाई की जायेगी। सभी परीक्षा केंद्रों पर पुलिस सुरक्षा बढ़ाई जाएगी और संवेदनशील केंद्रों पर सीसीटीवी कैमरों से कड़ी निगरानी रखी जाएगी। जिला स्तर पर सात रैपिड रिस्पांस टीमें तैनात की जाएंगी और परीक्षा केंद्रों के परिसर में धारा 144 लागू की जाएगी।

छात्रों की संख्या में बढ़ोतरी: हर साल लगभग 14 लाख 60 हजार छात्र 12वीं कक्षा के लिए रजिस्ट्रेशन कराते हैं। पिछले साल बारहवीं कक्षा के 14 लाख 28 हजार छात्रों ने रजिस्ट्रेशन कराया था। सामने आया है कि इस साल 12वीं कक्षा में छात्रों की संख्या 15 लाख 15 हजार है।

Also Read : कलेक्टर के आधिकारिक बंगले में सुरक्षा गार्ड के रूप में काम करने वाले राज्य रिजर्व बल के जवान ने आत्महत्या की घटना”

मराठी में पढे :

मोठी बातमी: महाराष्ट्र राज्य मंडळाने इयत्ता 12वीच्या परीक्षेसाठी फसवणूकमुक्त उपाय लागू केले आहेत. परीक्षा सहाय्यक

शैक्षणिक बातम्या, महाराष्ट्र बोर्ड परीक्षा, SSC परीक्षा, HSC 2024 परीक्षा बातम्या, HSC परीक्षा, शिक्षण, SSC 2024 परीक्षा बातम्या, SSC 2024 परीक्षा, HSC 2024 परीक्षा

महाराष्ट्र राज्य माध्यमिक आणि उच्च माध्यमिक शिक्षण मंडळ (राज्य मंडळ) 12वीची परीक्षा 21 फेब्रुवारीपासून सुरू होत आहे. या परीक्षेची प्रवेशपत्रे राज्य मंडळाने २२ जानेवारीपासून ऑनलाइन उपलब्ध करून दिली आहेत.

आता या परीक्षेबाबत बोर्डाने सूचना जारी केल्या आहेत. पेपर सुरू होण्याच्या अर्धा तास आधी विद्यार्थ्यांना परीक्षा केंद्रावर हजर राहणे बंधनकारक असेल. पेपर सुरू झाल्यानंतर येणाऱ्या विद्यार्थ्यांना परीक्षेला बसू दिले जाणार नाही, अशा सूचना सर्व केंद्रांना देण्यात आल्या आहेत. त्यामुळे विद्यार्थ्यांना नियोजित वेळेच्या अर्धा तास आधी परीक्षा केंद्रांवर पोहोचावे लागणार आहे.

बारावीची परीक्षा फसवणूकमुक्त व्हावी यासाठी बोर्डाने यंदा सरमिसल पद्धत वापरण्याचा निर्णय घेतला आहे. परिणामी, एकाच शाळेतील किंवा कनिष्ठ महाविद्यालयातील विद्यार्थी बारावीच्या परीक्षेदरम्यान एकामागून एक बसणार नाहीत. त्याऐवजी, विद्यार्थ्यांना वेगवेगळ्या परीक्षा केंद्रांवर रोल नंबर दिले जातील. यापूर्वी विद्यार्थ्यांना पेपर सुरू होण्याच्या दहा मिनिटे आधी प्रश्नपत्रिका देण्यात आली होती. मात्र, आता ही पद्धत बंद करून विद्यार्थ्यांना पेपर संपताना दहा मिनिटे जादा वेळ दिला जाणार आहे.

तसेच, कॉपीमुक्त परीक्षेसाठी संगणक वर्गाचा पेपर निघेपर्यंत परीक्षा केंद्राच्या 100 मीटरच्या परिघातील सर्व झेरॉक्स केंद्रे बंद राहतील, असे बोर्डाने स्पष्ट केले आहे. भाषा विषयांव्यतिरिक्त इतर विषयांसाठी मंडळाने विद्यार्थ्यांना अभ्यासासाठी पुरेसा वेळ देण्यासाठी वेळापत्रक तयार केले आहे. त्यामुळे विद्यार्थ्यांनी कोणतीही भीती न बाळगता आत्मविश्वासाने परीक्षा द्यावी, असे आवाहन शिक्षण मंडळाकडून करण्यात आले आहे.

याशिवाय ज्या परीक्षा केंद्रांवर फसवणूक होते, त्या परीक्षा केंद्रचालकांवरही कारवाई करण्यात येणार आहे. सर्व परीक्षा केंद्रांवर पोलिस बंदोबस्त वाढवण्यात येणार असून संवेदनशील केंद्रांवर सीसीटीव्ही कॅमेऱ्यांद्वारे कडक नजर ठेवण्यात येणार आहे. जिल्हा स्तरावर सात जलद प्रतिसाद पथके तैनात करण्यात येणार असून परीक्षा केंद्रांच्या परिसरात कलम 144 लागू करण्यात येणार आहे.

विद्यार्थ्यांच्या संख्येत वाढ : दरवर्षी सुमारे 14 लाख 60 हजार विद्यार्थी बारावीसाठी नोंदणी करतात. गेल्या वर्षी 12वीच्या 14 लाख 28 हजार विद्यार्थ्यांनी नोंदणी केली होती. यंदा 12वीच्या विद्यार्थ्यांची संख्या 15 लाख 15 हजार असल्याची माहिती समोर आली आहे.