Delhinote:Image use only news related this image not a real accident image
64 / 100

दिल्ली: ये लाचारी और बेबसी ही तो हर दिन कुछ न कुछ करवाती है, कुछ पैसों के लिए अपनों को अपनों से ही दूर करवाती है। दिल्ली के लक्ष्मी नगर का शाहरुख, हर दिन की तरह उस दिन भी बाइक पर पीछे की ओर सिलेंडर बाँधकर उन्हें भरवाने जा रहा था। यूं तो ये उसका रोज का काम था लेकिन मंगलवार का दिन उसके लिए काल बनकर आ गया। 5 खाली सिलेंडर रिफिल कराने से पहले ही एक कार ने उसकी जान ले ली। 5 सिलेंडरों का वजन भी था जिस कारण शाहरुख को संभलने का मौका ही नहीं मिला। कार की टक्कर इतनी तेज थी कि अस्पताल पहुंचते ही उसकी मौत हो गई। कार चालक मौके से फरार हो गया, जिसकी तलाश दिल्ली पुलिस को है।

Also read=“नागपुर: बुधवार को गणेशपेठ बस स्टैंड पर एसटी बस में जो वस्तु मिली, कोई बम या विस्फोटक नहीं था, बल्कि एक रेडमैटिक कंपनी का अग्निशामक यंत्र था।”

कैसे हुआ हादसा?

मात्र 21 साल का शाहरुख मंगलवार को रोजाना की तरह अपनी बाइक पर 5 सिलिंडर बाँधकर उन्हें रिफिल कराने जा रहा था। वह एक गैस एजेंसी में काम करता था सो यही उसका काम भी था। वह सुबह करीब 9.30 बजे सिलेंडर रिफिल कराने जा रहा था, तभी एक कार ने उसे टक्कर मार दी। इस हादसे में शाहरुख की मौत हो गई। हादसे के बाद कार चालक भाग गया, उसकी तलाश जारी है। एक प्रत्यक्षदर्शी ने बताया कि शाहरुख की गाड़ी के दोनों ओर गैस सिलेंडर बंधे थे और उसने हेलमेट नहीं पहना था। प्रत्यक्षदर्शी के अनुसार, ‘टक्कर के जोर और सिलेंडर के वजन की वजह से उसका संतुलन

Also read=Chandrapur:”स्वप्निल काशीकर: गुंड से लेकर संपत्ति तक की चौंकाने वाली कहानी, शिव वझरकर हत्या प्रकरण के रहस्यमय रूपरेखा”

बिगड़ गया और वह एक तरफ गिर गया, जिससे उसके सिर और मुंह में गंभीर चोटें आईं।’ पुलिस के मुताबिक, उन्हें गीता कॉलोनी फ्लाईओवर पर हादसे की सूचना मिली थी। मौके पर पहुंचने पर पुलिस को शाहरुख गंभीर हालत में सड़क पर पड़ा मिला। उसे अस्पताल ले जाया गया, लेकिन डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

दो पहिया वाहनों पर सिलेंडर ले जाने पर रोक की जरूरत

पुलिस के मुताबिक शव का पोस्टमार्टम कराने के बाद उसे पीड़ित के परिवार को अंतिम संस्कार के लिए सौंप दिया गया। डीसीपी गुप्ता ने कहा, ‘आस-पास के सीसीटीवी कैमरों की फुटेज की जांच की जा रही है और हादसे के सिलसिले को समझने

 gas cylinder

के लिए तकनीकी निगरानी बढ़ा दी गई है। हम उस कार के नंबर की पहचान करने की कोशिश कर रहे हैं।’ पुलिस ने दोपहिया वाहनों पर गैस सिलेंडर ले जाने के खतरों पर भी जोर दिया, जिसमें लीक, आग और दुर्घटनाओं का जोखिम बताया गया है। उन्होंने कहा कि सुरक्षित पैकेजिंग और परिवहन नियमों का पालन जैसे उचित सावधानी गैस सिलेंडर के सुरक्षित परिवहन को सुनिश्चित करने के लिए आवश्यक हैं। एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, ‘यहां तक कि छोटी टक्कर या अचानक रुकने से भी सिलेंडर प्रोजेक्टाइल बन सकते हैं, जिससे आस-पास के वाहनों और पैदल चलने वालों को खतरा हो सकता है। अपर्याप्त सुरक्षा या अनुचित लोडिंग तकनीक से सिलेंडर पलट सकते हैं या गिर सकते हैं, जिससे दुर्घटना हो सकती है।’

English

Delhi: Helplessness and helplessness do something every day, keeping loved ones away for a few bucks. Shahrukh of Laxmi Nagar in Delhi, like every day, was going to refill cylinders on his bike that day too. Although this was his daily routine, Tuesday turned out to be fateful for him. Even before refilling the 5 empty cylinders, a car took his life in a collision. The weight of the 5 cylinders was such that Shahrukh didn’t even get a chance to balance himself. The collision was so severe that he lost his life as soon as he reached the hospital. The driver of the car fled the scene, and the Delhi Police are searching for him.

How did the accident happen?

Just 21-year-old Shahrukh was going to refill cylinders on his bike like every day. He worked at a gas agency, so it was his job. He was about to refill the cylinders around 9:30 in the morning when a car hit him. Shahrukh lost his life in this accident. After the accident, the car driver fled, and a search is underway for him. An eyewitness revealed that both sides of Shahrukh’s bike had cylinders attached, and he wasn’t wearing a helmet. According to the eyewitness, “Due to the impact of the collision and the weight of the cylinders, his balance was disrupted, and he fell to one side, resulting in serious injuries to his head and face.” According to the police, they received information about the accident at the Geeta Colony Flyover. Upon reaching the scene, the police found Shahrukh in critical condition on the road. He was taken to the hospital, but the doctors declared him dead.

Also read=5-स्टार होटल में गहरी रात की राजनीति के बाद तस्वीरों की वजह से हुई हत्या,

Need to stop carrying cylinders on two-wheeled vehicles

According to the police, after conducting a post-mortem of the body, it was handed over to the victim’s family for the final rites. DCP Gupta said, “The footage from nearby CCTV cameras is being examined, and technical surveillance has been increased to understand the sequence of events of the accident. We are trying to identify the number of the car involved.” The police have also emphasized the dangers of carrying gas cylinders on two-wheeled vehicles, including the risk of leaks, fires, and accidents. They said that ensuring safe packaging and compliance with transportation rules is necessary to ensure the safe transportation of gas cylinders. A senior officer said, “Even a minor collision or sudden stop can turn cylinders into projectiles, posing a danger to vehicles and pedestrians nearby. Inadequate security or improper loading techniques can cause cylinders to overturn or fall, leading to accidents.”