मामूली विवाद में एक युवक की हत्या
76 / 100

चंद्रपुर: एक मामूली विवाद में एक युवक की हत्या, रामनगर थाना क्षेत्र के अष्टभुजा इलाके में शनिवार की सुबह एक युवक की गला रेतकर हत्या कर दी गई है। उनका नाम सूरज सिंह (32) था और वह अष्टभुजा चंद्रपुर के निवासी थे। मृतक एक गैंगस्टर थे और उनके खिलाफ गंभीर अपराध दर्ज थे। इस मामले में पूछताछ के लिए धमदीप सिंगारे (26), आदर्श असीम हलदर (24), अविनाश प्रभाकर सोनवाले (24), और अभिषेक मनोज मेड़ता (19) को हिरासत में लिया गया है। खबर लिखने तक आरोपियों से पूछताछ जारी रही।

मिली जानकारी के मुताबिक, आरोपी और मृतक एक ही इलाके के रहने वाले थे और उन्हें एक दूसरे से अच्छी तरह से जानते थे। इसी बीच, शुक्रवार को उनके बीच मामूली बात पर विवाद हुआ। इस विवाद के चलते आरोपियों ने सूरज सिंह की धारदार हथियार से उनकी हत्या कर दी। इसके बाद, उनका शव नगर निगम के डंपिंग यार्ड में दफनाया गया। शनिवार को अष्टभुजा मोहल्ले में खून के धब्बे दिखे, जिसे नागरिकों ने रामनगर पुलिस को सूचित किया। इसके बाद रामनगर पुलिस टीम मौके पर पहुंची। पुलिस का कहना है कि उनके पास हत्या के संकेत हैं।

सर्च ऑपरेशन के दौरान, अष्टभुजा क्षेत्र में हत्या की गिरफ्तारी के बाद शहर में सनसनी फैल गई। मृतक सूरज सिंह का शव एक गड्ढे में दबा हुआ मिला, और पुलिस ने चारों संदिग्धों को तुरंत हिरासत में ले लिया। पुलिस की जांच जारी है, लेकिन हत्या का कारण अब तक पता नहीं चल पाया है।

पिछले कुछ दिनों में जिले में हत्या की घटनाओं में भारी बढ़ोतरी हुई है। शुक्रवार को गोंडपिपरी तालुका में एक महिला की हत्या हुई और बल्लारपुर में एक युवती की हत्या हुई। कुछ दिन पहले चंद्रपुर में युवा सेना के शहर प्रमुख शिव वजारकर की भी हत्या हो चुकी है। नये पुलिस अधीक्षक मुमक्का सुदर्शन के आने के बाद से यह हत्या की तीसरी घटना है। जिले में ल

गातार हो रही हत्या की घटनाओं से आपराधिक प्रवृत्ति की तस्वीर बनती जा रही है, और इन घटनाओं से जिले में हड़कंप मच गया है।

Also Read : पति ने आधी रात को सोते समय अपनी पत्नी की कुल्हाड़ी मारकर हत्या कर दी

मामूली विवाद में एक युवक की हत्या : मराठी में पढे,

किरकोळ वादातून तरुणाची हत्या

चंद्रपूर : किरकोळ वादातून तरुणाची हत्या करण्यात आली.रामनगर पोलीस ठाण्याच्या हद्दीतील अष्टभुजा परिसरात शनिवारी सकाळी एका तरुणाचा गळा चिरून खून करण्यात आला. सूरज सिंग (३२) असे त्याचे नाव असून तो अष्टभुजा चंद्रपूर येथील रहिवासी होता. मृत हा गुंड असून त्याच्यावर गंभीर गुन्हे दाखल आहेत. याप्रकरणी धम्मदीप सिंगारे (२६), आदर्श असीम हलदर (२४), अविनाश प्रभाकर सोनवळे (२४), अभिषेक मनोज मेर्टा (१९) यांना चौकशीसाठी ताब्यात घेण्यात आले आहे. वृत्त लिहेपर्यंत आरोपींची चौकशी सुरू होती.

मिळालेल्या माहितीनुसार, आरोपी आणि मृत हे एकाच भागातील रहिवासी असून एकमेकांना चांगले ओळखत होते. दरम्यान, शुक्रवारी त्यांच्यात क्षुल्लक कारणावरून वाद झाला. या वादातून आरोपींनी धारदार शस्त्राने सूरजसिंगची हत्या केली. यानंतर त्यांचा मृतदेह महापालिकेच्या डम्पिंग यार्डमध्ये पुरण्यात आला. शनिवारी अष्टभुजा परिसरात रक्ताचे डाग दिसले, याची माहिती नागरिकांनी रामनगर पोलिसांना दिली. यानंतर रामनगर पोलिसांचे पथक घटनास्थळी पोहोचले. त्यांच्याकडून हत्येचे संकेत मिळत असल्याचे पोलिसांचे म्हणणे आहे.

शोध मोहिमेदरम्यान अष्टभुजा परिसरात खुनाला अटक झाल्यानंतर शहरात खळबळ उडाली आहे. मृत सूरज सिंगचा मृतदेह खड्ड्यात पुरलेला आढळून आला, पोलिसांनी तत्काळ चारही संशयितांना ताब्यात घेतले. पोलिसांचा तपास सुरू आहे, मात्र हत्येचे कारण अद्याप समजू शकलेले नाही.

जिल्ह्यात गेल्या काही दिवसांपासून खुनाच्या घटनांमध्ये मोठी वाढ झाली आहे. शुक्रवारी गोंडपिपरी तालुक्यात एका महिलेचा तर बल्लारपूरमध्ये तरुणीचा खून करण्यात आला होता. काही दिवसांपूर्वीच चंद्रपुरात युवासेना शहरप्रमुख शिव वजरकर यांचीही हत्या झाली होती. नवे पोलिस अधीक्षक मुमक्का सुदर्शन आल्यानंतर खुनाची ही तिसरी घटना आहे. जिल्ह्यात

सातत्याने घडणाऱ्या खुनाच्या घटनांमुळे गुन्हेगारी प्रवृत्ती वाढल्याचे चित्र निर्माण होत असून, या घटनांनी जिल्ह्यात खळबळ उडाली आहे.