ISRO
76 / 100

नैना सूर्यवंशी और सम्यक मेश्राम का इसरो की पढ़ाई के लिए चयन

तलोधी (बा.) जिला परिषद चंद्रपुर के तहत नागभीड तालुका के दो छात्रों को ISRO के अध्ययन दौरे के लिए चयन

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) ने देश के उज्जवल भविष्य के लिए एक और कदम उठाते हुए, तलोधी (बा.) जिला परिषद चंद्रपुर के तहत नागभीड तालुका के दो छात्रों को 30 जनवरी से 5 फरवरी, 2024 तक इसरो के सात दिवसीय अध्ययन दौरे के लिए चयन किया है। इस सात दिवसीय अध्ययन दौरे में, छात्रों को अंतरिक्ष अनुसंधान में विशेषज्ञता हासिल करने का एक अद्वितीय अवसर मिलेगा।

इसरो द्वारा चयनित छात्रा नैना सूर्यवंशी और छात्र सम्यक वामन मेश्राम ने वर्ष 2022-23 में तालुका स्तरीय विज्ञान प्रदर्शनी में अपनी उत्कृष्टता को साबित किया था। इसलिए, जिला परिषद चंद्रपुर ने इन दोनों उत्कृष्ट छात्रों को ISRO के इस विशेष अध्ययन दौरे के लिए चयनित किया।

छात्रा नैना सूर्यवंशी का उत्कृष्टता में हासिल किया गया सम्मान

नैना सूर्यवंशी, जो डब्ल्यू. एक। प्रो स्कूल पारडी (थावरे) में अध्ययन करती हैं, ने अपनी उत्कृष्टता के लिए मार्गदर्शन विज्ञान विषय के शिक्षक सुबोध हजारे, प्राचार्य अशोक शेंडे, समस्त शिक्षण स्टाफ एवं स्कूल प्रबंधन समिति को श्रेय दिया है।

नैना ने अपने प्रयासों और उत्कृष्टता के माध्यम से इसरो के इस अध्ययन दौरे के लिए चयन हासिल किया है, जिससे उन्हें अंतरिक्ष और विज्ञान में और भी आगे बढ़ने का सुनहरा अवसर मिलेगा।

छात्र सम्यक वामन मेश्राम की उपलब्धि और बढ़ती हुई उम्मीदें

सम्यक वामन मेश्राम, जो जी.पी. हायर प्राइमरी स्कूल और जी.पी. हायर प्राइमरी स्कूल, येनोली (माल) में अध्ययनरत हैं, ने भी अपनी उत्कृष्टता को साबित करते हुए मार्गदर्शन विज्ञान विषय के शिक्षक सुशांत कांदिकुरवार, प्राचर्य प्रकाश कोयताडे, समस्त शिक्षण स्टाफ एवं विद्यालय प्रबंधन समिति को श्रेय दिया है।

सम्यक ने इसरो के अध्ययन दौरे के लिए चयन हासिल करके अपने पैरों की धरती में चंद्रमा तक का सफर तय करने का सपना देखा है। इसमें उनके परिश्रम, उत्साह और उत्कृष्टता का बहुत बड़ा हाथ है।

नागभीड पंचायत समिति के समूह विकास अधिकारी की सहायता और प्रेरणा

इसरो अध्ययन दौरे के लिए इन दोनों छात्रों के चयन के पीछे नागभीड पंचायत समिति के समूह विकास अधिकारी सिस्टम खोचरे और समूह शिक्षा अधिकारी संजय पालवे का बड़ा हाथ है। उनकी मेहनत और प्रेरणा के बल पर ही इन छात्रों को इस अद्वितीय अवसर का लाभ मिला है। वे इस मौके पर छात्रों को प्रेरित कर रहे हैं ताकि वे आगे बढ़कर देश के विकास में योगदान दें और अंतरिक्ष विज्ञान में अध्ययन करके नए उच्चाईयों को छूने का सपना पूरा करें।

समाप्त विचार

इस प्रेरणादायक घटना ने दिखाया है कि छोटे गाँवों में भी ऐसे अनेक उदार शिक्षक और समाजसेवी हैं, जो अपनी छात्रों को महत्वपूर्ण और उच्च स्तरीय शिक्षा में रुचि लेने के लिए प्रेरित कर रहे हैं। इसी तरह के इरादे से शिक्षा क्षेत्र में कुशलता की ओर बढ़ने में हम सभी का सहयोग होना चाहिए, ताकि हमारे देश का बच्चा-बच्चा अपने सपनों को पूरा करने के लिए उत्साहित रहे।

Bramhapuri : संविधान देश के लिए विश्व का सर्वोत्तम उपहार है: विजय वडेट्टीवार

ISRO मराठी मे पढे :

नयना सूर्यवंशी आणि सम्यक मेश्राम यांची इस्रो अभ्यासासाठी निवड झाली

तलोधी (बा) जिल्हा परिषद चंद्रपूर अंतर्गत नागभीड तालुक्यातील दोन विद्यार्थ्यांची इस्रोच्या अभ्यास दौऱ्यासाठी निवड

भारतीय अंतराळ संशोधन संस्थेने (इस्रो) देशाच्या उज्वल भविष्याकडे आणखी एक पाऊल टाकत तळोधी (बु.) जिल्हा परिषद, चंद्रपूर अंतर्गत नागभीड तालुक्यातील दोन विद्यार्थ्यांना ३० जानेवारी ते इस्रोच्या सात दिवसांच्या अभ्यास दौऱ्यावर पाठवले आहे. 5 फेब्रुवारी 2024. साठी निवडले. या सात दिवसांच्या अभ्यास दौऱ्यात विद्यार्थ्यांना अवकाश संशोधनात प्राविण्य मिळवण्याची अनोखी संधी मिळणार आहे.

इस्रोने निवडलेल्या विद्यार्थिनी नयना सूर्यवंशी आणि विद्यार्थी सम्यक वामन मेश्राम यांनी 2022-23 या वर्षात तालुकास्तरीय विज्ञान प्रदर्शनात आपली उत्कृष्टता सिद्ध केली होती. त्यामुळे जिल्हा परिषद चंद्रपूरने या दोन उत्कृष्ट विद्यार्थ्यांची इस्रोच्या या विशेष अभ्यास दौऱ्यासाठी निवड केली.

** विद्यार्थिनी नयना सूर्यवंशी हिला उत्कृष्टतेसाठी सन्मान मिळाला **

नयना सूर्यवंशी, ज्यांनी प. एक. प्रो स्कूल, पारडी (ठावरे) येथे शिकत असलेल्या तिने तिच्या उत्कृष्ट कामगिरीचे श्रेय मार्गदर्शक विज्ञान शिक्षक सुबोध हजारे, मुख्याध्यापक अशोक शेंडे, संपूर्ण शिक्षक कर्मचारी आणि शाळा व्यवस्थापन समितीला दिले आहे.

तिच्या प्रयत्नांमुळे आणि उत्कृष्टतेमुळे, नैनाने ISRO येथे या अभ्यास दौऱ्यासाठी निवड केली आहे, ज्यामुळे तिला अंतराळ आणि विज्ञानात आणखी प्रगती करण्याची सुवर्ण संधी मिळेल.

विद्यार्थी सम्यक वामन मेश्रामचे यश आणि वाढत्या अपेक्षा

सम्यक वामन मेश्राम, जे जी.पी. उच्च प्राथमिक शाळा आणि ग्रा.पं. येनोली (माळ) येथील उच्च प्राथमिक विद्यालयात शिकणारे मार्गदर्शन विज्ञान विषयाचे शिक्षक सुशांत कंदीकुरवार यांनीही आपले कर्तृत्व सिद्ध केले.

याचे श्रेय आर्य प्रकाश कोयताडे, सर्व शिक्षक कर्मचारी व शाळा व्यवस्थापन समिती यांना देण्यात आले आहे.

सम्यकने इस्रोच्या अभ्यास दौऱ्यासाठी निवड होऊन पायाने चंद्रावर जाण्याचे स्वप्न पाहिले आहे. यात त्याच्या मेहनतीचा, उत्साहाचा आणि उत्कृष्टतेचा मोठा वाटा आहे.

नागभीड पंचायत समितीच्या गटविकास अधिकाऱ्यांची मदत व प्रेरणा

नागभीड पंचायत समितीचे गटविकास अधिकारी प्रणाली खोचरे व गटशिक्षणाधिकारी संजय पालवे यांचा या दोन विद्यार्थ्यांच्या इस्रोच्या अभ्यास दौऱ्यासाठी निवड करण्यात मोठा वाटा आहे. त्यांच्या मेहनतीमुळे आणि प्रेरणेमुळेच या विद्यार्थ्यांना या अनोख्या संधीचा लाभ मिळाला आहे. यानिमित्ताने ते विद्यार्थ्यांना पुढे येऊन देशाच्या विकासात हातभार लावण्यासाठी आणि अवकाश विज्ञानाचा अभ्यास करून नवीन उंची गाठण्याचे स्वप्न पूर्ण करण्यासाठी प्रवृत्त करत आहेत.

समाप्त विचार

या प्रेरणादायी घटनेने हे दाखवून दिले आहे की लहान गावातही अनेक उदार शिक्षक आणि सामाजिक कार्यकर्ते आहेत जे आपल्या विद्यार्थ्यांना महत्त्वाच्या आणि उच्च स्तरावरील शिक्षणात रस घेण्यास प्रेरित करतात. या उद्देशाने आपण सर्वांनी शिक्षण क्षेत्रातील कार्यक्षमतेच्या दिशेने वाटचाल करण्यासाठी सहकार्य केले पाहिजे, जेणेकरून आपल्या देशातील प्रत्येक मूल आपली स्वप्ने पूर्ण करण्यासाठी उत्सुक राहील.